होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

तेंदुलकर के शतकों के रिकॉर्ड की बराबरी के बाद कोहली ने कहा, यह सपने के साकार होने जैसा

कोलकाता.
विराट कोहली ने रविवार को कहा कि अपने 35वें जन्मदिन पर 49वां एकदिवसीय शतक बनाकर महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर की बराबरी करना सपनों के सच होने जैसा है और उन्होंने इस लम्हे के लिए ईश्वर को धन्यवाद दिया। तेंदुलकर के 50 ओवर के क्रिकेट में सर्वाधिक अंतरराष्ट्रीय शतकों का रिकॉर्ड बनाकर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहने के एक दशक बाद कोहली ने एक और शानदार पारी के साथ इस महान बल्लेबाज की बराबरी कर ली। कोहली ने 121 गेंद में 10 चौकों की मदद से नाबाद 101 रन बनाए जिससे भारत ने ईडन गार्डन की धीमी पिच पर पांच विकेट पर 326 रन का स्कोर खड़ा किया। श्रेयस अय्यर ने 77 जबकि कप्तान रोहित शर्मा ने 24 गेंदों में 40 रन बनाए।

कोहली ने भारत की पारी खत्म होने के बाद आधिकारिक प्रसारणकर्ता से कहा, ‘‘भारत के लिए खेलने का हर अवसर बड़ा है, अपने जन्मदिन पर शतक जड़ा पाना सपना साकार होने की तरह है। भगवान का आभारी हूं कि मुझे यह लम्हा मिला।‘‘ तेंदुलकर ने तुरंत कोहली को उनकी उपलब्धि के लिए बधाई दी और कामना की कि वह ‘अगले कुछ दिनों’ में विश्व रिकॉर्ड 50वां एकदिवसीय शतक बनाएं। तेंदुलकर ने ‘एक्स’ (पूर्व में ट्विटर) में लिखा, ‘‘शानदार खेल दिखाया विराट। इसी साल की शुरुआत में मुझे 49 से 50 (वर्ष) का होने में 365 दिन लगे। उम्मीद करता हूं कि आप 49 से 50 (शतक) तक पहुंचोगे और अगले कुछ दिनों में मेरा रिकॉर्ड तोड़ोगे। बधाई हो।’’

ईडन गार्डन्स की पिच के धीमी होने के कारण भारत की रन गति में कुछ गिरावट भी आई। कोहली ने इस बीच एक छोर संभाले रखा जबकि दूसरे छोर पर बल्लेबाजों ने बड़े शॉट खेलने का प्रयास किया। पारी के बारे में बात करते हुए कोहली ने कहा, ‘‘यह एक ऐसा विकेट था जिस पर बल्लेबाजी करना आसान नहीं था। हमें शानदार शुरुआत मिली। जब मैं बल्लेबाजी के लिए उतरा तो मेरा काम था कि मैं लय बरकरार रखूं। लेकिन दस ओवर के बाद गेंद टर्न करने लगी और विकेट धीमा हो गया।’’ उन्होंने कहा, ‘‘सलामी बल्लेबाजों के आउट होने के बाद मेरी भूमिका अंत तक बल्लेबाजी करने की थी और मैंने यही किया है। श्रेयस ने भी अच्छी शॉट लगाने शुरू किए। हम नहीं सोच रहे थे कि हम 326 रन तक पहुंचेंगे, लेकिन ऐसा तब होता है जब आप अंत जाते हो।’’

कोहली ने कहा कि एशिया कप से पहले प्रशिक्षण सत्र में काफी समय बिताना उनके और अय्यर के लिए महत्वपूर्ण साबित हुआ जिन्होंने रविवार को तीसरे विकेट के लिए 134 रन की साझेदारी की। उन्होंन कहा, ‘‘श्रेयस और मैंने एशिया कप से पहले बहुत सारे अभ्यास सत्र में हिस्सा लिया और हमेशा तीसरे और चौथे नंबर पर एक साथ बल्लेबाजी की। हम दोनों स्पिनरों के खिलाफ सहज हैं। हम दोनों स्पिनरों के खिलाफ स्ट्राइक रोटेट करने में सहज हैं, खराब गेंदों पर शॉट खेलने का श्रेय उन्हें जाता है।’’

 

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!