होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

बेहद खराब श्रेणी में पहुंच गई 10 इलाकों की हवा, बिगड़ने के आसार

नई दिल्ली.

राजधानी में वायु गुणवत्ता खराब श्रेणी में बरकरार है। हवाओं की दिशा बदलने व गति कम होने से कई इलाकों में हवा बेहद खराब श्रेणी में पहुंच गई है। शुक्रवार को दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 261 दर्ज किया गया, जोकि खराब श्रेणी है। वहीं, बृहस्पतिवार के मुकाबले सूचकांक में पांच की वृद्धि हुई है। आज दिल्ली में 286, नोएडा में 255 और गुरुग्राम में 200 AQI दर्ज किया गया है। दिल्ली और नोएडा की हवा बहुत खराब है तो गुरुग्राम की हवा कुछ ठीक है।

10 इलाकों में हवा बेहद खराब और 23 इलाकों में हवा खराब श्रेणी दर्ज की गई। ग्रेटर नोएडा का सर्वाधिक सूचकांक दर्ज किया गया। समग्र रूप से दिल्ली का एक्यूआई खराब श्रेणी में बरकरार रहा। वहीं, शनिवार से हवा बेहद खराब श्रेणी में पहुंचने की आशंका है। विशेषज्ञों के मुताबिक हवा की दिशा बदलने से  पराली का धुआं धीरे-धीरे दिल्ली की ओर रुख कर रहा है। इससे हवा प्रदूषित हो रही है। ग्रेटर नोएडा में सबसे प्रदूषित रही हवा सीपीसीबी के अनुसार दिल्ली-एनसीआर में ग्रेटर नोएडा का सबसे अधिक वायु गुणवत्ता सूचकांक दर्ज किया गया। यहां एक्यूआई 280 रहा, जोकि बृहस्पतिवार के मुकाबले 20 सूचकांक अधिक है।

आज से और बिगड़ने के आसार
भारतीय उष्णदेशीय मौसम विज्ञान संस्थान (आईआईटीएम) के मुताबिक शुक्रवार को हवाएं उत्तर-पश्चिम व दक्षिण पश्चिम दिशा की ओर से चली। इस दौरान हवा की गति 4 से 8 किलोमीटर प्रतिघंटे से रही। शनिवार को हवाएं उत्तर-पश्चिम व दक्षिण पश्चिम दिशाओं से चलने का अनुमान है। इस दौरान हवा की गति 4 से 8 किलोमीटर प्रतिघंटे से चलेंगी। वहीं, सुबह के समय हल्की धुंध छाए रहने का भी अनुमान है। इस दौरान हवा बेहद खराब श्रेणी में पहुंचने की आशंका है। वहीं, रविवार को हवाएं दक्षिण व पूर्वी दिशा की ओर से चलेंगी। हवा की चाल 4 से 10 किलोमीटर प्रतिघंटे रहने का अनुमान है। सफर इंडिया के मुताबिक बृहस्पतिवार को दिल्ली में पीएम 2.5 की मात्रा लगभग 116 दर्ज की गई, जोकि खराब श्रेणी में है। वहीं, पीएम 10 की मात्रा करीब 234 दर्ज की गई।

न्यू मोती बाग व नेहरू नगर सबसे अधिक प्रदूषित
सीपीसीबी के मुताबिक दिल्ली में 10 इलाकों में बेहद खराब हवा दर्ज की गई। बृहस्पतिवार के मुकाबले इसमें 7 इलाके अधिक बढ़ गए हैं। इनमें न्यू मोती बाग का एक्यूआई सर्वाधिक दर्ज किया गया। यहां वायु सूचकांक 359 दर्ज किया गया, जोकि बेहद खराब श्रेणी है। वहीं, नेहरू नगर में 337, आनंद विहार में सूचकांक 334, शादीपुर में 322, रोहिणी में 327, बवाना में 316, मुंडका में 312, जहांगीरपुरी में 332, आरके पुरम में 300 एक्यूआई दर्ज किया गया।वहीं, द्वारका सेक्टर-8 में 285, एनएसआईटी द्वारका में 278, पंजाबी बाग में 291, नरेला में 284, पटपड़गंज में 271 समेत 23 इलाकों में हवा खराब रही। साथ ही डीटीयू में 187 व दिलशाद गार्डन में 199,आया नगर में 181 एक्यूआई मध्यम श्रेणी रहा।

सर्द हवाओं से दिल्ली एनसीआर का गिरेगा पारा
हवा की दिशाओं में बदलाव से दिल्ली-एनसीआर का पारा गिरेगा। मौसम विभाग का अनुमान है कि शनिवार सुबह धुंध छा सकती है। कमोबेश ऐसी स्थिति पूरे सप्ताह रहने का अनुमान है। हालांकि, दिन में धूप खिलने से मौसम थोड़ा साफ होगा, लेकिन शाम होते ही सर्द हवाओं के कारण रात का तापमान गिर सकता है।  प्रादेशिक मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक, शुक्रवार को दिल्ली का अधिकतम तापमान 32.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। न्यूनतम तापमान 15.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से दो डिग्री कम है। विशेषज्ञों का कहना है कि पिछले कुछ दिन से मौसमी बदलाव के कारण दिल्ली का न्यूनतम तापमान 17 डिग्री के करीब बना हुआ है। सुबह और शाम को हल्की ठंड महसूस हो रही है। मौसम विभाग का कहना है कि शनिवार से दिल्ली में सुबह धुंध छा सकती है। अधिकतम तापमान 32 डिग्री और न्यूनतम तापमान 16 डिग्री सेल्सियस के आस-पास रह सकता है।

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!