होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

महंगाई का असर फेस्टिव सीजन पर साफ नजर आ रहा

नईदिल्ली

नवरात्रि पर्व चल रहा है और आने वाले दिनों में दशहरा-दिवाली जैसे त्योहार आ रहे हैं. देश में फेस्टिवल सीजन की शुरुआत के साथ ही बाजारों में भी रौनक देखने को मिलने लगी है. विभिन्न त्योहारों से संबंधित तरह-तरह के प्रोडक्ट्स की दुकानों पर भरमार है. लेकिन इस बार भी महंगाई (Inflation) का असर फेस्टिव सीजन पर साफ नजर आ रहा है. एक ओर जहां इलेक्ट्रॉनिक्स समेत अन्य तमाम बाजारों में भीड़ दिख रही है, तो वहीं इसके मुताबिक बिक्री देखने को नहीं मिल रही है. इससे दुकानदारों की चिंता बढ़ रही है.  

चाइनीज सामानों की सेल भी घटी
महंगाई के असर के कारण बाजारों में मौजूद इंडियन प्रोडक्ट्स ही नहीं, बल्कि चाइनीज सामानों की खरीदारी भी नहीं हो रही है. ग्राहकों में कम कीमत पर मिलने वाले Chinies Products की खरीदारी के लिए भी परचेजिंग पावर नजर नहीं आ रही है. राजधानी दिल्ली में मौजूद भागीरथ पैलेस (Bhagirath Palace) एशिया की सबसे बड़ी इलेक्ट्रॉनिक्स मार्केट है.

यहां कारोबार करने वाले व्यापारी अनूप यादव की मानें, तो इस समय मार्केट में दूसरे राज्यों के ज्यादातर ग्राहक दिवाली (Diwali) की लाइट और अन्य सामान खरीदने के लिए आते हैं, लेकिन आलम यह है कि होलसेलर रिटेल करने को मजबूर हो रहे हैं, इसके चलते हमें जो दाम 10 फीसदी तक बढ़ाने चाहिए थे, हॉलसेलर्स ने 10 फीसदी तक घटा दिए हैं. ऐसे में अगर हमारा स्टॉक एक साल कर रखा रह गया, तो ज्यादा नुकसान झेलना पड़ जाएगा. 

ऑनलाइन शॉपिंग का पड़ रहा असर
दिल्ली के एक और बड़े मार्केट सदर बाजार (Sadar Bazar) का भी भागीरथ पैलेस जैसा ही हाल दिखाई दे रहा है. सदर बाजार ट्रेडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष राकेश यादव के मुताबिक मार्केट में फेस्टिव सीजन के चलते कस्टमर्स की भीड़ लगी हुई तो नजर आ रही है, लेकिन कस्टमर में परचेसिंग पावर नहीं है. ज्यादातर कस्टमर ऑनलाइन प्रोडक्ट खरीदने को अधिक तरजीह दे रहे हैं. ये एक बड़ा कारण है, जिससे मार्केट की दुकानदारी पर ज्यादा असर पड़ा है.  इस बार फेस्टिवल सीजन पर कस्टर्स पिछले साल के मुकाबले कम जेब ढीली करना चाहते हैं. 

ग्राहकों की खरीदारी में ये हुआ बदलाव
फेस्टिव सीजन में लोग अपने घरों के लिए खरीदारी करना तो चाहते हैं, लेकिन खरीदारी पर जमकर खर्च करने के मूड में नहीं दिख रहे हैं. कारोबारियों की मानें, तो जो कस्टमर पिछले साल तक 500 रुपये की कीमत वाले गिफ्ट खरीदने से परहेज नहीं कर रहे थे, वो इस बार 250 से 300  रुपये के गिफ्ट्स की तलाश कर रहे हैं. बजट में कटौती के चलते वे इंडियन प्रोडक्ट्स के बजाय चाइनीस प्रोडक्ट्स की तरफ ज्यादा आकर्षित हो रहे हैं, क्योंकि चाइनीज प्रोडक्ट भारतीय सामानों की तुलना में सस्ते मिल जाते हैं. 

इसलिए चाइनीज सामनों की बाजार में भरमार
महंगाई के असर से घटी ग्राहकों की परचेजिंग पावर के चलते बाजार में फेस्टिव सीजन से संबंधित इंडियन प्रोडक्ट्स के बजाय तरह-तरह की चाइनीज क्रॉकरी, चाइनीज लाइटिंग, चाइनीज गिफ्ट सेट की भरमार देखने को मिल रही है. आजतक के साथ बातचीत के दौरान चीनी सामान के एक एक्सपोर्टर ने बताया कि China Made Products क्वॉलिटी, किफायती और समय से डिलीवरी देने में सक्षम होने की वजह से इंडियन सेलर के लिए पसंदीदा रहते हैं. इसके अलावा हम पेमेंट के तरीके को लेकर भी फ्लेक्सिबल रहते हैं, खरीदार को जिस पेमेंट मोड में सहूलियत होती है हम उसी मीडियम इसे लेते हैं. इसलिए इंडियन मार्केट के साथ हमारा बिजनेस चल रहा है.

 

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!