होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

जबरन धर्मांतरण का मामला: पाकिस्तान में हिंदू लड़की को अगवा कर मुस्लिम से कराई जबरदस्ती शादी, कोर्ट ने भी नहीं किया ‘न्याय’

इस्लामाबाद
पाकिस्तान में एक बार फिर से हिंदू लड़की के जबरन धर्मांतरण का मामला सामने आया है। एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान के सिंध प्रांत में एक हिन्दू लड़की का अपहरण कर उसका धर्मांतरण करा दिया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक सिंध प्रांत के मीरपुरखास इलाके में रजिता कोल्ही नाम की एक हिंदू लड़की का अपहरण किया और फिर उसकी मुस्लिम अपहर्ता आशिक अहमदानी से जबरन शादी करा दी गई।

 रजिता को जब अदालत में पेश किया गया तो उसने अपने परिवार के साथ जाने की बात कही, लेकिन अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश ने उसकी बात नहीं सुनी और दारुल अमन यानी नारी निकेतन भेज दिया। पाकिस्तान में अल्पसंख्यों के अधिकारों के लिए लड़ने वाले संगठन के सह-अध्यक्ष और संस्थापक शिव काची ने एक्स पर एक पोस्ट में कहा, रजिता कोल्ही नामक हिंदू लड़की को अदालत में पेश किया गया। वहीं, एक अन्य मामले में एक पंजाबी मुस्लिम लड़की को भी पेश किया गया, जिसने किसी से शादी करने के लिए अपना घर छोड़ दिया था। जज ने मुस्लिम लड़की को तो उसके परिवार के साथ भेज दिया, लेकिन हिंदू लड़की अपने घरवालों के साथ जाने के लिए चिल्लाती रही, लेकिन अदालत ने उसे जबरन दारुल अमन भेज दिया।

 शिव काची ने लिखा कि हिंदू लड़की राजिता ने रोते हुए जज से परिवार के साथ जाने की जिद की, लेकिन कोर्ट ने उसे लड़कियों के आश्रय गृह भेज दिया। पाकिस्तान के सर्वोच्च न्यायालय, सिंध उच्च न्यायालय और मानवाधिकार संगठनों को इस न्यायिक अन्याय पर तत्काल ध्यान देना चाहिए।" शिव कच्छी ने कहा कि रजिता का अपहरण कर लिया गया और धर्म परिवर्तन के बाद आशिक अहमदानी से शादी कर ली गई, जो न्यू डंबलू के बादिन जिले का रहने वाला है। सिंध में हैदराबाद के सामाजिक कार्यकर्ता रविशंकर भील ने घटना की निंदा की और कहा, 'सिंधी हिंदुओं पर हमेशा से अत्याचार होता रहा है, आज एक और अत्याचार हुआ है।' विश्व सिंधी कांग्रेस के महासचिव लखु लुहाना ने एएनआई से कहा, "विश्व सिंधी कांग्रेस के अध्यक्ष ने रजिता कोल्ही के दिल दहला देने वाले वीडियो को देखकर गहरा दुख व्यक्त किया है। हम अंतरराष्ट्रीय समुदाय से सिंध की बेटियों को बचाने में हमारी सहायता करने का आग्रह करते हैं।" बीजेपी नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने भी पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की सुरक्षा का सवाल उठाया। उन्होंने एक्स पर पोस्ट किया, "पाकिस्तान में एक हिंदू लड़की के अपहरण का एक और मामला हिंदू समुदाय की सुरक्षा और भलाई के बारे में चिंता पैदा करता है, यह दर्शाता है कि पाक में अल्पसंख्यकों के लिए न्याय और नियमों में असमानताएं मौजूद हैं।"
 

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!