होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

इजरायल पर हुए हवाई हमले के सबूत मिले, हमास ने नॉर्थ कोरिया के हथियारों से बरसाई थी आग

इजरायल
इजरायली सेना आईडीएफ को अपने यहां 7 अक्टूबर को हुए हवाई हमले के बारे में अहम जानकारी हाथ लगी है। इजरायल द्वारा जब्त हथियारों से पता लगा है कि हमास के लड़ाकों ने संभवत: 7 अक्टूबर को इजरायल पर हमले के दौरान उत्तर कोरियाई हथियारों से गोलीबारी की थी। हालांकि किंग जोंग उन की सरकार ने इस बात से साफ इनकार किया है। इन हथियारों की पहचान दक्षिण कोरिया ने भी की है। आईडीएफ को ऐसे सबूत हाथ लगे हैं कि जो बताते हैं कि नॉर्थ कोरियाई सरकार आतंकवादी समूह हमास को अभी भी हथियार बेच रही है।

7 अक्टूबर को इजरायली धरती पर हुए हवाई हमले में 1700 लोगों की जान चली गई। हमास के लड़ाकों ने 20 मिनट में 5000 रॉकेट छोड़े थे। इस हवाई हमले को लेकर इजरायली सेना के हाथ बड़े सबूत लगे हैं। सोशल मीडिया पर जारी किए गए वीडियो का विश्लेषण उत्तर कोरियाई हथियारों के दो विशेषज्ञों द्वारा किया गया था। युद्ध के मैदान पर पकड़े गए हथियारों और दक्षिण कोरियाई सैन्य खुफिया जानकारी के मुताबिक, वीडियो में दिख रहा है कि हमास ने एफ -7 रॉकेट-प्रोपेल्ड ग्रेनेड का इस्तेमाल किया। यह कंधे से दागा जाने वाला हथियार है, जिसे आमतौर पर बख्तरबंद वाहनों के खिलाफ इस्तेमाल में लाया जाता है। यह साक्ष्य अवैध हथियारों की खेप की पोल खोलती है, जिसका उपयोग प्रतिबंधों से जूझ रहा उत्तर कोरिया अपने हथियार कार्यक्रमों को वित्तपोषित करने के लिए करता आया है।
 
इन हथियारों की खासियत
इन हथियारों में एक रॉकेट-चालित ग्रेनेड लांचर एक ही वारहेड से फायर किया जाता है और तुरंत पुनः लोड किया जा सकता है। जिससे वे भारी वाहनों को नेस्तनाबूत करने में काफी सक्षम है। हथियार विशेषज्ञ जेनजेन जोन्स जो कंसल्टेंसी आर्मामेंट रिसर्च सर्विसेज के निदेशक के रूप में काम कर रहे हैं, ने एपी को बताया, "उत्तर कोरिया ने लंबे समय से फिलिस्तीनी आतंकवादी समूहों का समर्थन किया है और उत्तर कोरियाई हथियारों को पहले भी प्रतिबंधित आपूर्ति के बीच दस्तावेज किया गया है।"

उत्तरी कोरिया क्या बोला
संयुक्त राष्ट्र में उत्तर कोरिया के मिशन ने एपी के टिप्पणी के अनुरोध का तुरंत जवाब नहीं दिया। हालाँकि, प्योंगयांग ने पिछले हफ्ते अपनी राज्य संचालित केसीएनए समाचार एजेंसी के माध्यम से उन दावों को खारिज कर दिया कि हमास ने उत्तरी कोरियाई हथियारों का इस्तेमाल किया था।

हमास के पास उत्तरी कोरिया के हथियार
स्मॉल आर्म्स सर्वे के एक वरिष्ठ शोधकर्ता मैट श्रोएडर ने कहा कि "उत्तर कोरियाई हथियारों को हमास के पास देखना कोई आश्चर्य की बात नहीं है।" वीडियो में एक लड़ाकू विमान को एफ-7 ले जाते हुए दिखाया गया है। इज़रायली सेना द्वारा जब्त किए गए और पत्रकारों को दिखाए गए हथियारों में लाल पट्टी और F-7 से मेल खाने वाले अन्य डिज़ाइन तत्व भी शामिल थे।
 

दक्षिण कोरिया भी कर चुका पहचान
दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ ने विशेष रूप से एफ-7 की पहचान उत्तर कोरियाई हथियारों में से एक के रूप में की है। उनका मानना ​​​​है कि हमास ने इसे इजरायल पर हमले में इस्तेमाल किया था।

 

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!