होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

प्रधानमंत्री शुक्रवार को देश की पहली रैपिडएक्स रेल की देंगे सौगात

गाजियाबाद
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में शुक्रवार (20 अक्टूबर) को देश की पहली क्षेत्रीय रेल रैपिडएक्स का उद्घाटन करेंगे। प्रथम चरण में यह सेवा 17 किलोमीटर लंबी होगी, जिसमें पांच स्टेशन होंगे। इन पांच स्टेशनों में साहिबाबाद, गाजियाबाद, गुलधर, दुहाई और दुहाई-डिपो शामिल है। इसकी सेवाएं हर 15 मिनट पर उपलब्ध होंगी और यह 160 किलोमीटर प्रतिघंटा की चाल से चलेगी।

सरकारी प्रवक्ता के मुताबिक रेलगाड़ी में एक डिब्बा महिलाओं के लिए आरक्षित होगा। दोनों ओर से पहली रेलगाड़ी छह बजे और अंतिम सेवा रात 11 बजे उपलब्ध रहेगी। आम नागरिकों के लिए सेवाएं शनिवार से चालू की जाएंगी।

उद्घाटन से पहले एनसीआरटीसी ने  मीडिया ट्रेन का ट्रायल रन कराया। इसमें मीडिया प्रतिनिधियों ने भाग लिया और रैपिडएक्स ट्रेन की एक तरह से प्रीमियर शो का आनंद लिया। रैपिडएक्स का ट्रायल साहिबाबाद आरआरटीएस स्टेशन से लेकर दुहाई स्टेशन तक चला। इस दौरान ट्रेन में 157 किलोमीटर प्रति घंटा के हिसाब से भी दौड़ लगाई और चंद मिनट में अपने गंतव्य तक पहुंच गई। इस दौरान एनसीईआरटी के प्रवक्ता पुनीत वत्स व अन्य पदाधिकारी भी मौजूद रहे। उन्होंने ट्रेन की खूबियों के बारे में विस्तार से बताया।

प्रधानमंत्री के कार्यक्रम की आगमन की तैयारी में प्रशासन पिछले कई दिनों से दिन-रात जुटा हुआ है। साथ एसपीजी भी डेरा डाल चुकी है। मौके पर कड़े सुरक्षा बंदोबस्त किए जा रहे हैं। पुलिस प्रशासन के उच्चाधिकारी लगातार जायजा ले रहे हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत अनेक अतिथि इस कार्यक्रम में शामिल होंगे।

रीजनल रैपिड ट्रांसिट सिस्टम (आरआरटीएस) एक हाई-स्पीड, हाई-फ़्रीक्वेंसी परिवहन प्रणाली है, जो 160 किमी प्रति घंटा की परिचालन गति से एनसीआर के निवासियों को क्षेत्र में निर्बाध रूप से यात्रा करने की सुविधा प्रदान करेगा। इसका 82 किमी लंबा प्रथम कॉरिडोर दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ के बीच निर्माणाधीन है।

प्रत्येक रैपिडएक्स ट्रेन में 6 डिब्बे हैं जिनमें लगभग 1700 यात्री एक साथ यात्रा कर सकते हैं। हर स्टैंडर्ड कोच में 72 सीटें और प्रीमियम कोच में 62 सीटें उपलब्ध हैं। प्रत्येक रैपिडएक्स ट्रेन में एक कोच महिलाओं के लिए आरक्षित है, यह प्रीमियम कोच के बाद दूसरा कोच होगा। ट्रेन के अन्य कोचों में भी महिलाओं के लिए सीटें आरक्षित हैं। साथ ही, प्रत्येक कोच में विकलांग यात्रियों/वरिष्ठ नागरिकों के लिए भी सीटें आरक्षित हैं।

प्रत्येक रैपिडएक्स ट्रेन में एक प्रीमियम कोच भी है जिसमें रिक्लाइनिंग सीटें, कोट हुक, मैगजीन होल्डर और फुटरेस्ट जैसी कई अतिरिक्त यात्री-केंद्रित सुविधाएं होंगी। दिल्ली से मेरठ की ओर जाने वाला पहला कोच और मेरठ से दिल्ली की ओर जाने वाला अंतिम कोच प्रीमियम कोच होगा।

प्रत्येक रैपिडएक्स ट्रेन में एक प्रीमियम कोच होगा, जिसमें रिक्लाइनिंग सीटें, कोट हुक, मैगजीन होल्डर और फुटरेस्ट जैसी कई अतिरिक्त यात्री-केंद्रित सुविधाएं होंगी। दिल्ली से मेरठ की ओर जाने वाला पहला कोच और मेरठ से दिल्ली की ओर जाने वाला अंतिम कोच प्रीमियम कोच होगा।

 

 

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!