होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

कनाडा में नवरात्रि पर राजनीतिक घमासान: खालिस्तान के पालतू बने जस्टिन ट्रूडो तो हिन्दुओं के साथ आए विपक्षी नेता

नई दिल्ली
खालिस्तान के पालतू बन चुके जस्टिन ट्रूडो के खिलाफ अब हिन्दुओं को साधने के लिए विपक्षी नेता मैदान में उतर आए हैं और नवरात्रि के मौके पर कनाडा में राजनीतिक घमासान शुरू हो गया है। नवरात्रि शुरू होने के साथ ही हिन्दू वोट बैंक को अपने पाले में करने के लिए राजनेताओं ने हिन्दुओं को मोहने की कोशिश शुरू कर दी है। कनाडा के नेताओं के बीच शारदीय नवरात्र के मौके पर हिन्दुओं को बधाई और शुभकामनाएं देने का कनाडा में सिलसिला शुरू हो गया है। भारत के साथ राजनयिक गतिरोध के बीच कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने रविवार को नवरात्रि की शुभकामनाएं दीं हैं, वहीं कनाडा के मुख्य विपक्षी नेता पियरे पोइलिवरे ने भी एक वीडियो जारी कर हिन्दुओं को नवरात्रि की शुभकामनाएं दी हैं।

कनाडा में हिन्दुओं को मोहने की कोशिश कनाडाई प्रधान मंत्री जस्टिन ट्रूडो ने एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर कहा, कि "नवरात्रि की शुभकामनाएं! मैं हिंदू समुदाय के सदस्यों और उन सभी को अपनी हार्दिक शुभकामनाएं भेज रहा हूं, जो इस त्योहार को मना रहे हैं।" रविवार को जारी एक आधिकारिक प्रेस बयान में, कनाडाई पीएम ट्रूडो ने कहा, कि "अगले नौ रातों और 10 दिनों में, कनाडा और दुनिया भर में हिंदू समुदाय के सदस्य नवरात्रि मनाने के लिए इकट्ठा होंगे।"

उन्होंने अपने बयान में कहा है, कि "नवरात्रि हिंदू आस्था में सबसे महत्वपूर्ण और पवित्र त्योहारों में से एक है, जो राक्षस महिषासुर पर देवी दुर्गा की जीत और बुराई पर अच्छाई की विजय का प्रतीक है। अक्सर इसे स्त्री ऊर्जा के उत्सव के रूप में देखा जाता है, यह दोस्तों और परिवार के लिए एक साथ आने और प्रार्थनाओं, हर्षोल्लासपूर्ण, विशेष भोजन और आतिशबाजी के साथ सदियों पुरानी परंपराओं का सम्मान करने का समय है।''
 

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!