होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

बीजेपी कार्यालय के बाहर आदिवासियों का धरना

जशपुर.

भाजपा ने 85 विधानसभा सीटों पर अपने प्रत्याशी उतार दिए हैं। चुनाव प्रचार के लिए पूरी ताकत झौंक दी है। दूसरी ओर प्रत्याशी बदलने की  मांग को लेकर जशपुर से रायपुर आए आदिवासियों का तीसरे दिन भी धरना प्रदर्शन जारी है। डूमरतराई स्थित बीजेपी प्रदेश कार्यालय कुशाभाऊ ठाकरे परिसर में जशपुर बीजेपी कार्यकर्ता प्रत्याशी बदलने की मांग पर अड़े हुए हैं। शुरुआती तौर पर बीजेपी के अन्य नेताओं ने उन्हें भरपूर समझाने की कोशिश की पर वो नहीं माने। इसके बाद सोमवार 16 अक्टूबर को उनसे मिलने प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव पहुंचे। साव ने हाथ जोड़कर सभी को घर जाने के लिए कहा।

उन्होंने भरोसा दिलाया कि वो हाईकमान से बात करेंगे, लेकिन कार्यकताओं का कहना है कि पहले बात करिए फिर मानेंगे। ठोस आश्वासन के बाद ही धरने से हटने की बात कही है। इस दौरान कई कार्यकर्ता साव से बातें करते हुए रो पड़े। बीजेपी ने जशपुर से रायमुनि भगत को प्रत्याशी घोषित किया है, जबकि कार्यकर्ता पूर्व मंत्री गणेशराम भगत को टिकट देने की मांग कर रहे हैं। वो पिछले 3 दिन से बीजेपी कार्यालय के बाहर धरने पर डटे हुए हैं। उनका कहना की रायमुनि भगत के समर्थन में कोई भी कार्यकर्ता प्रचार-प्रसार नहीं कर रहा है। साव ने आश्वासन दिया है कि उनकी बातें हाईकमान तक पहुंचा दी जाएगी और भगत समेत सभी कार्यकर्ताओं का पार्टी सम्मान करती है।

'गणेशराम को लेकर भ्रम फैलाया गया'
बीजेपी कार्यकर्ताओं का कहना है कि जशपुर विधानसभा क्षेत्र में गणेशराम को लेकर भ्रम फैलाया गया था। उनके बारे में कहा गया कि वो अब बुजुर्ग हो चुके हैं। चल फिर नहीं सकते। उनका पैर टूट गया है और वो व्हीलचेयर पर चलते हैं। जबकि पूरा देश जानता है कि सच्चाई क्या है।  एक साल में 120 आंदोलन गणेशाराम ने किया है। अगर वह चल फिर सकते तो फिर आंदोलन कैसे किए। इसे लेकर रिपोर्ट भी आई है। अफवाह फैलाई गई कि वो बीजेपी के विरोध में काम कर रहे हैं। नाराज कार्यकर्ताओं ने कहा कि 2013 से 2023 तक विधानसभा को खड़े करने का काम गणेशराम भगत ने किया है। रात में आदिवासी कार्यकर्ता बीेजेपी दफ्तर के बाहर गेट के सामने सोकर अपना  विरोध जारी रखे हुए हैं।

गणेशराम भगत के रोने का वीडियो हुआ था वायरल
बीजेपी की लिस्ट जारी होने पर गणेशराम भगत का एक वीडियो भी वायरल हुआ था। इसमें वो टिकट नहीं मिलने पर भावुक होकर फूट-फूट कर रो रहे थे। वायरल वीडियो में भगत जनजातीय सुरक्षा मंच के कार्यकर्ताओं की बैठक में जशपुर सीट से टिकट नहीं मिलने पर लोगों को सांत्वना दे रहे थे।  भाजपा नेताओं के आश्वासन के बाद भी टिकट नहीं मिलने पर वो भावुकर होकर रो पड़े थे।

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!