होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

नगर में महाराणा प्रताप जयंती के शुभ अवसर पर निकाली जाएगी भव्य शौर्य यात्रा

शौर्य यात्रा में क्षत्रिय समाज के सभी लोग शामिल हो : रिंकू

शहडोल/ब्यौहारी। वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप जी की 489 वीं जयंती के शुभ अवसर पर ब्यौहारी नगर में निकल जाएगी भव्य शौर्य यात्रा पूर्व अध्यक्ष सहकारी बैंक वीरेश सिंह रिंकू ने जानकारी देते हुए बताया है कि इस वर्ष नगर में ब्यौहारी के समस्त क्षत्रिय समाज, श्री राजपूत करणी सेना एवं रॉयल राजपूत संगठन के द्वारा धूमधाम, हर्षोल्लास के साथ क्षत्रिय कुलभूषण, वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप जी की 489वीं जयंती के शुभ अवसर पर 9 जून रविवार कों शाम 4 बजे से शौर्य यात्रा का आयोजन ब्यौहारी के समस्त क्षत्रिय समाज के द्वारा किया गया है। शौर्य यात्रा का शुभारंभ टाटा मोटर्स रीवा रोड से किया जाएगा। यह शौर्य यात्रा ब्यौहारी नगर के टाटा मोटर्स से प्रारंभ होकर टंकी तिराहा, चुंगी नाका, बनसुकली चौराहा, बस स्टैंड से होते हुए रेलवे तिराहा सिद्धिविनायक पैलेस में समाप्त होगी।

युवराज दिव्यराज रहेंगे मुख्य अतिथि

वीरेश सिंह रिंकू ने बताया की सिद्धिविनायक पैलेस में शौर्य यात्रा समापन के पश्चात. मंचीय कार्यक्रम का आयोजन भी किया गया है. जिसमें मुख्य अतिथि के तौर पर रीवा राजघाराने के युवराज दिव्यराज सिंह सिरमौर विधायक, विशिष्ट अतिथि के तौर पर चित्रकूट विधायक सुरेंद्र सिंह गहरवार, सोहागपुर गढ़ी से कुंवर यशवर्धन सिंह, ताला गढ़ी से कुंवर कपिध्वज सिंह, अभ्युदय सिंह मड़वास, बुढ़वा गढ़ी से कुंवर हर्ष सिंह, कुआं गढ़ी से सूर्य प्रताप सिंह, पतरेही गढ़ी से राजमणि सिंह, अरुण सिंह त्रिनेत्र पत्रिका संपादक एवं मुख्य वक्ता के रूप में संजय सिंह मिर्जापुर उपस्थित रहेंगे।

समस्त क्षत्रिय समाज अपनी उपस्थिति दर्ज करें : गणेश

श्री राजपूत करणी सेना के प्रदेश उपाध्यक्ष गणेश प्रताप सिंह दादू ने बताया कि क्षत्रिय कुलभूषण, वीर शिरोमणि योद्धा महाराणा प्रताप जी का जन्म 9 मई 1540 को राजस्थान में हुआ था. महाराणा प्रताप जी ने अपनी वीरता से मुगलों के घमंड को चूर किया और उनके हमलों से मेवाड़ के साथ-साथ भारत भूमि की रक्षा भी की थी।
प्रत्येक वर्ष देशभर में महाराणा प्रताप की जयंती धूमधाम और हर्षोल्लास से मनाई जाती है. इस वर्ष महाराणा प्रताप जी की 489वीं जयंती मनाई जा रही हैं। महाराणा प्रताप मेवाड़ के शुरवीर योद्धा के साथ ही शौर्य, पराक्रम और साहस के प्रतीक माने जाते हैं।
श्री राजपूत करणी सेना द्वारा समस्त क्षत्रिय समाज के लोगों से अपील की गई है कि क्षत्रिय कुलभूषण, वीर शिरोमणि, शुरवीर योद्धा महाराणा प्रताप जयंती के अवसर पर इस शौर्य यात्रा में शामिल होकर अपना सहयोग प्रदान करें एवं यात्रा को सफल बनाएं।

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!