होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

लड़कियां कर रही अजीबोगरीब हरकत, लोग मान रहे भूत का प्रकोप

– मामला बुढार ब्लॉक के खाड़ा गांव सिटका टोला बस्ती का
सीएमएचओ ने कहा भेजेंगे टीम, कराएंगे जांच
जनसम्पर्क एक्सप्रेस शहडोल।
बुढार ब्लॉक के खाड़ा गांव के सिटका टोला बस्ती में कई किशोरिया अजीबो गरीब हरकत कर रही हैं। सरपंच ने मामले की जानकारी स्वास्थ्य विभाग को देने की दो दिनों से कोशिश की लेकिन बुढार ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर ने सरपंच का फोन उठाना ही उचित नहीं समझा। उप सरपंच रवि शंकर साहू ने बताया कि कई दिनों से आधा दर्जन बच्चियों ने अजीबो गरीब हरकत करनी शुरू की है। गांव के लोगों ने बच्चियों को झाड़ फंूक भी करवाया है लेकिन उनकी तबीयत में सुधार नहीं हुआ है। जिसकी जानकारी शनिवार की सुबह से उप सरपंच के द्वारा फिर से दोबारा बुढार ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर को फोन पर देनी चाही लेकिन ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर ने फोन नहीं उठाया। अजीबो गरीब हरकत का वीडियो ग्रामीणों ने बनाकर मीडिया कर्मियों तक पहुंचाया और मदद की गुहार लगाई। सरपंच पति राजू बैग का कहना है कि पिछले कुछ दिनों से गांव की कुछ बच्चियां अजीबो गरीब हरकत कर रही हैं जिसकी जानकारी स्वास्थ्य अमले को देने की कोशिश की जा रही है लेकिन स्वास्थ्य विभाग को जानकारी नहीं दे सके हैं। ग्रामीणों का कहना है कि सुबह और शाम के वक्त कुछ घंटे के लिए बच्चियां अजीबो गरीब हरकत करनी शुरू कर देती हैं और अपने आप वह ठीक हो जाती हैं। तो वहीं कुछ ग्रामीणों का कहना है कि आम बिनने समीप के बगीचे में यह सभी बच्चियों लगातार जाती थी। ग्रामीणों का मानना है कि उसे बगीचे में भूत का साया है जिसकी वजह से उन्हें भूत जैसा कुछ सवार हो जाता है जिससे वह अजीबो गरीब हरकत कर रही हैं। वीडियो में बच्चियां चीखती हुई नजर आ रही है जिससे स्पष्ट होता है कि उन्हें या तो कोई बीमारी है या फिर कुछ और है। विज्ञान के इस युग में इसे भूत प्रेत या किसी की छाया कहना अतिशयोक्ति होगी लेकिन जिस हिसाब से यह वीडियो में तरह-तरह की हरकतें कर रही है और इससे गांव में कौतूहल का विषय बना हुआ है। ग्रामीण इस बात को लेकर भी दहशत में है कि कहीं भूत या प्रेत इन बच्चियों के घर से होता हुआ उनके घर तक ना आ जाए। इस मामले में दैनिक जागरण टीम के पास यह वीडियो पहुंचा तो मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एके लाल से चर्चा की गई। सीएमएचओ ने बातचीत में बताया कि तत्काल स्वास्थ्य विभाग की एक टीम मौके के लिए भेजी जा रही है। बच्चियों के स्वास्थ्य का प्रशिक्षण कराया जाएगा और उन्हें समुचित इलाज के लिए अस्पताल लाया जाएगा। उधर इस घटना को लेकर जब जागरण द्वारा कुछ ग्रामीणों से बात की गई तो उनका कहना था कि इस तरह की हरकतें पहली बार कुछ बच्चियों में देखी जा रही है। क्षेत्र में कुछ लोग अंधविश्वास में काफी विश्वास करते हैं इस वजह से यह घटना कुछ ज्यादा ही प्रचारित हो गई है। फिर भी स्वास्थ्य विभाग की टीम मौके पर आकर जिन बच्चियों को इस तरह के झटके आ रहे हैं उस संबंध में परीक्षण आवश्यक उपचार सुविधा मुहैया कराई जानी चाहिए। वहीं कुछ ग्रामीणों का कहना था कि इस घटना के बाद से ऐसा ही आभाष हो रहा है कि भूत-प्रेत का छाया बच्चियों के ऊपर है। जिसके लिए झाड़-फूंक भी कराया जा रहा है।

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!