होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

सर्व धर्म विनयांजलि सभा

त्याग तपस्या और कठोर चर्या की विलक्षण त्रिवेणी ,श्रमण संस्कृति के उन्नायक , विश्व संत गुरुवर आचार्य १०८ आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज ने 17 फरवरी 2024 को पूर्ण चेतन अवस्था में उत्कृष्ट समाधि धरण की । जैन और जैनेतर सभी समाज के जन-जन के मन में उमड़ती भावनाओं को शब्द रूप देने के लिए जैन मिलन समिति ,श्री पारसनाथ दिगंबर जैन मंदिर अग्रवाल कॉलोनी जबलपुर द्वारा एक वृहत विनयांजलि सभा का आयोजन रविवार को प्रातः 10:00 बजे यादव कॉलोनी चौक पर किया गया ।
ऋतु जैन द्वारा मंगलाचरण उपरांत आमंत्रित अतिथि वक्ताओं के द्वारा आचार्य श्री के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलन कर सभा का प्रारंभ हुआ ।दिगंबर जैन वर्णी गुरुकुल के अधिष्ठाता श्रद्धेय जिनेश भैया जी ब्रह्मचारी जी ने कहा आचार्य श्री के बताएं मार्ग पर चलना ,उनके आदर्शों को मानना और उनका पालन करना ही गुरुदेव के प्रति सच्ची विनयांजलि होगी। महापौर जगत बहादुर अन्नु ,विधायक अभिलाष पांडे ,पूर्व विधायक विनय सक्सेना ,पूर्व महापौर स्वाति गोडबोले , फादर बेन ,हिंदू पंजाबी संगठन के अध्यक्ष आई एम भाटिया , जिया भाईजान ,हाजी हाजी लियाकत अली ,डॉ नीलेश जैन ,पूर्व राज्य मंत्री शरद जैन ,ज्ञान गोलछा ,आलोक पाठक ,भारतीय जनता पार्टी के कोषाध्यक्ष अखिलेश जैन ,पार्षद अंशुल राघवेंद्र ,अधिवक्ता पूनम जैन ,दीपचंद जैन,प्रोफ.एल सी जैन ,धनंजय बाजपेयी ,संजय चौधरी आदि ने गुरुदेव को सदी का महान संत निरूपित किया गया ।इस अवसर पर सभी ने गुरुदेव द्वारा किए गए कार्यों पर प्रकाश डाला ।गुरुदेव ने आध्यात्मिक क्षेत्र के अलावा शिक्षा संस्कृति ,आयुर्वेदिक चिकित्सा एवं रोजगार के लिए बहुउद्देशीय योजनाएं बनाकर पूरे भारतवर्ष को विश्व गुरु बनाने के लिए बहुत सारे कार्य करे । उसमें शिक्षा के क्षेत्र में प्रतिभास्थली ,चिकित्सा के क्षेत्र में पूर्ण आयु एवं भाग्योदय जैसे संस्थान दिए ।गोवंश के लिए 150 से अधिक गौशालाएं दयोदय गौशालाओं के नाम से पूरे भारतवर्ष में है जिसमें लगभग 2 लाख से अधिक गोवंश का संरक्षण होता है ।चल चरखा के नाम से प्रसिद्ध हथकरघा उद्योग जो कि हमारे ब्रह्मचारी भाई और बहनों के द्वारा पूरे देश में स्थापित हो चुके हैं इससे अनेक लोगों को रोजगार मिल रहा हैइंडिया को इंडिया नहीं भारत बोलने का आवाहन सर्वप्रथम गुरुदेव के द्वारा ही किया गया था जिसे आज भारत सरकार भी मान रही है ।गुरुदेव को नाम पूरा विश्व भगवान स्वरूप मानता हैं ।यह बात गिनी’ज वर्ल्ड ऑफ बुक में भी नोट हो चुकी है ।यह सब सब उद्ग़ार आए हुए अतिथियों ने अपनी-अपनी तरह से बताए।इस कार्यक्रम का संचालन सी ए मनोज जैन के द्वारा किया गया एवं इसमें मुख्य भूमिका अध्यक्ष जैन मिलन संस्था मुन्नू ,सचिव आलोक मोदी अरुण जैन सिम्पलेक्स व विद्यासागर गुरुकुलम के उपाध्यक्ष आलोक जैन की रही।
सभा में बड़ी संख्या में अग्रवाल कॉलोनी जैन समाज व आसपास के सभी वर्गों के लोगों ने अपनी उपस्थिति दी ।।

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!