होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

रुको रुको लौट चलो-मुनि विद्यासागर

पाटन – जैन संत आचार्य विद्यासागर मुनिराज की समाधि के उपरांत नगर के बाजार वार्ड में जैन समाज के द्वारा विनयांजलि सभा आयोजित की गई जिसमें गुरु माँ चिंतन मति माता जी के सानिध्य नगर के लोगो ने अपने श्रद्धा सुमन अर्पित किए और गुरु के प्रति अपने भाव भी व्यक्त किये कार्यक्रम का आगाज मंगलाचरण से किया तत्पश्चात आचार्य विद्यासागर के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित किया गया बही पूज्य माता चिंतन मति ने गुरु के गुणों का बखान किया और कहा कि आचार्य श्री ने चर्या से समझौता नही किया त्याग को ले कर आगे बढ़ते चले गए क्या कहे उन के जीवन के बारे में गुरु तो असीमित थे जिन्होंने सभी को अपना बना लिया पूरे देश मे शिक्षा स्वास्थ्य और गौ संबर्धन के ऐसे कार्य किये जो इतिहास में दर्ज होंगे हम गुरु के सिद्धांतों को अपने जीवन मे उतारे तभी यह विनयांजलि सार्थक होगी गुरु के उद्देश्य था कि हमे देश को पुराने स्वरूप में लाना और देश को पुनः भारत बनाना है बही कार्यक्रम उपस्थित वक्ताओं ने गुरु के जीवन उन की चर्या और सानिध्य को याद किया इस दौरान तहसीलदार दिलीप हनबत नगर परिषद अध्यक्ष जगेंद्र सिंह ,कृष्ण शेखर सिंह ,बालचंद जैन ,पार्षद गजेंद्र सिंह ,मनीष पटेल ,राघवेंद्र शुक्ल ,नंदू पटेल,संजय सिंह ,अभिषेक सिंह हरि भैया, विक्रम सिंह सहित तमाम सामाजिक संगठनों के प्रबुद्ध जन के साथ पार्षद और बड़ी संख्या में महिला पुरुष उपस्थित रहे बही सभी का अभिनंदन साधेलिया द्वारा आभार प्रदशित किया गया।

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!