होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

लोकसभा चुनाव: अल्पसंख्यकों से जुड़ने के लिए BJP ने खोलेगी मोर्चा, दिसंबर में शुरू करेगी सद्भावना यात्रा

नई दिल्ली
लोकसभा चुनाव से पहले अल्पसंख्यक समुदायों तक पहुंचने के लिए भारतीय जनता पार्टी देश भर में 'सद्भावना यात्रा' शुरू करने की तैयारी में है। इस यात्रा का लक्ष्य भारत के 543 मुस्लिम बहुल लोकसभा क्षेत्रों से जुड़ना है। भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जमाल सिद्दीकी ने बताया कि इस सद्भावना यात्रा का उद्देश्य मुस्लिम, सिख, जैन और पारसी समुदाय को केंद्र की मोदी सरकार की कल्याणकारी योजनाओं से परिचित कराना है।

65 अल्पसंख्यक क्षेत्रों पर रहेगा फोकस
बीजेपी की सद्भावना यात्रा देश के पूरे 543 लोकसभा क्षेत्रों से होकर गुजरेगी, लेकिन इसका ध्यान 65 अल्पसंख्यक बहुल इलाकों पर केंद्रित रहेगा। इसके लिए मोर्चा ने पूरे देश को छह क्लस्टर में बांटा गया है और इसके लिए संयोजक और सह संयोजक की पूरी टीम बनाई गई है।

अल्पसंख्यक समुदायों की बढ़ी भागीदारी
जमाल सिद्दीकी ने उल्लेख किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में, अल्पसंख्यक समुदाय देश के विकास में भागीदार बने हैं, उन्हें कश्मीर में धारा 370 और 35ए को निरस्त करने और तीन तलाक जैसी प्रथाओं के उन्मूलन के साथ-साथ महिला सशक्तिकरण जैसी पहलों से लाभ हुआ है। इस यात्रा के माध्यम से, अल्पसंख्यक मोर्चा का लक्ष्य मुस्लिम समुदाय और भाजपा के बीच की दूरी को पाटना और 2024 के लोकसभा चुनावों में मुस्लिम समुदाय की अधिक भागीदारी की दिशा में काम करना है।
 
दिसंबर से फरवरी तक चलेगी यात्रा
मोर्चा के मीडिया समन्वयक यासिर जिलानी ने बताया कि यह यात्रा देशभर के 65 लोकसभा क्षेत्रों से होकर गुजरेगी और दिसंबर के दूसरे सप्ताह में शुरू होकर फरवरी तक समाप्त होगी। इस यात्रा की योजना बनाने और उसे क्रियान्वित करने के लिए, मोर्चा ने अपने राष्ट्रीय और राज्य स्तर पर समितियों की स्थापना की है।

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!