होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

ममता बनर्जी दे रहीं महुआ मोइत्रा को मौन समर्थन, कैश कांड वाले विवाद के बीच दी नई जिम्मेदारी

नई दिल्ली.
कैश के बदले संसद में सवाल पूछने के आरोपों में घिरीं महुआ मोइत्रा को ममता बनर्जी ने नई जिम्मेदारी दी है। पार्टी ने उन्हें कृष्णानगर जिले का अध्यक्ष बनाया है। यह जिला उनकी ही लोकसभा सीट के अंतर्गत है। इस तरह वह अपने संसदीय क्षेत्र में और मजबूत हुई हैं। कारोबारी दर्शन हीरानंदानी से कैश और गिफ्ट लेकर संसद में गौतम अडानी से जुड़े सवाल पूछने के उन पर आरोप लगे हैं। इस मामले में भाजपा के सांसद निशिकांत दुबे ने लोकसभा स्पीकर ओम बिरला को खत लिखकर जांच की मांग की थी। इसके बाद स्पीकर ने मामला एथिक्स कमेटी को सौंप दिया था।

10 सदस्यीय एथिक्स कमेटी ने इस मामले में निशिकांत दुबे और महुआ मोइत्रा के पूर्व पार्टनर जय अनंत देहदराई से पूछताछ की थी। इसके बाद महुआ मोइत्रा को बुलाया गया था। हालांकि वह मीटिंग को बीच में ही छोड़कर बाहर आ गई थीं। उन्होंने एथिक्स कमेटी के सदस्यों पर निजी सवाल पूछने का आरोप लगाया था। यही नहीं एथिक्स कमेटी ने 6-4 के बहुमत से उनकी सदस्यता खत्म करने की भी सिफारिश की है। ऐसे में इस बीच ममता बनर्जी की ओर से उन्हें नई जिम्मेदारी देना अहम है।

खुद महुआ मोइत्रा ने नई जिम्मेदारी मिलने की जानकारी दी है और ममता बनर्जी को धन्यवाद कहा है। उन्होंने सोशल मीडिया पोस्ट पर लिखा, 'ममता बनर्जी और तृणमूल कांग्रेस को मैं जिला अध्यक्ष की जिम्मेदारी के लिए धन्यावद देती हूं। मैं हमेशा पार्टी और कृष्णानगर के लोगों के हित में काम करती रहूंगी।' गौरतलब है कि महुआ मोइत्रा के समर्थन में ममता बनर्जी ने अब तक खुलकर कुछ नहीं कहा है। लेकिन विवाद के बीच उन्हें जिम्मेदारी देने से साफ है कि उनकी ओर से मौन समर्थन जरूर है।

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!