होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

यूपी सरकार का फिर बड़ा एक्शन: रामपुर पब्लिक स्कूल और दफ्तर हुआ सील

रामपुर

उत्तर प्रदेश के रामपुर में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और पूर्व विधायक आजम खान पर बड़ी कार्रवाई की गई है। योगी आदित्यनाथ सरकार ने पिछले दिनों कैबिनेट बैठक में मौलाना अली जौहर ट्रस्ट की संपत्तियों की लीज खत्म करने का फैसला किया था। इस फैसले के आधार पर रामपुर जिला प्रशासन ने कार्रवाई शुरू कर दी है। गुरुवार को रामपुर प्रशासन के अधिकारी जोहर ट्रस्ट से जुड़ी संस्थाओं पर पहुंचे थे। कार्रवाई शुरू की गई थी। शुक्रवार को प्रशासन की टीम ने रामपुर पब्लिक स्कूल पर ताला लगा दिया। इसके अलावा समाजवादी पार्टी के जिला कार्यालय भी सील कर दिया गया है। इस दौरान रामपुर जिला प्रशासन के अधिकारी मौके पर मौजूद रहे। इस स्कूल में 634 बच्चियों की पढ़ाई करने का मामला सामने आया है। प्रशासन के स्तर से उन्हें दूसरे स्कूलों में शिफ्ट किए जाने की प्रक्रिया पूरी कराई जाने की बात कही जा रही है।

रामपुर पब्लिक स्कूल में करवाई पहले से ही शुरू कर दी गई थी स्कूल को खाली करने का नोटिस जारी किया गया था। गुरुवार को जब प्रशासन की टीम स्कूल में पहुंची तो स्कूल प्रशासन ने इसे खाली करने का समय मांगा। इसके बाद स्कूल प्रशासन ने अपने सामान को दूसरे स्थान पर शिफ्ट करना शुरू कर दिया। शुक्रवार को यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद रामपुर प्रशासन ने स्कूल को सील करने की कार्रवाई पूरी की गई। इसके साथ ही आजम खान के रामपुर में स्थित दारुल अवाम दफ्तर को सील किया गया है। समाजवादी पार्टी जिला कार्यालय पर भी ताला लगा दिया गया है। प्रशासन की टीम नेकार्यालय से पार्टी नेताओं को बाहर निकाल कर यह कार्रवाई पूरी की।

लगातार जारी है कार्रवाई

समाजवादी पार्टी के सीनियर नेता आजम खान के खिलाफ योगी आदित्यनाथ सरकार की कार्रवाई लगातार जारी है। जौहर ट्रस्ट पर अवैध रूप से जमीन कब्जा करने के मामले को लेकर कार्रवाई की गई है। कैबिनेट बैठक में अवैध तरीके से जमीन अधिग्रहण के मामले को लेकर लीज समाप्त करने पर मुहर लगी। प्रशासनिक स्तर पर सरकार के आदेश का पालन कराया जाना शुरू किया गया है। माध्यमिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने स्कूल की लीज खत्म होने के बाद सीलिंग की कार्रवाई को पूरा कराया।

वहीं, आजम खान लगातार कानूनी मामलों में गिरते जा रहे हैं। पिछले दिनों बेटे अब्दुल्लाह आजम के फर्जी सर्टिफिकेट मामले में कोर्ट ने 7 साल की सजा सुनाई। इस मामले में उन्हें एक बार फिर जेल जाना पड़ा है। फरवरी 2020 में भी आजम को जेल जाना पड़ा था। इसके बाद वे करीब 27 महीने तक जेल में रहे थे।

 

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!