होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

असांजे के खिलाफ प्रत्यर्पण अनुरोध वापस लें, अमेरिकी कांग्रेस की बाइडेन से अपील

असांजे के खिलाफ प्रत्यर्पण अनुरोध वापस लें, अमेरिकी कांग्रेस की बाइडेन से अपील

वाशिंगटन
 अमेरिकी कांग्रेस के 16 डेमोक्रेटिक और रिपब्लिकन सदस्यों ने राष्ट्रपति जो बाइडन से ऑस्ट्रेलियाई पत्रकार एवं विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे के खिलाफ अमेरिका के प्रत्यर्पण अनुरोध को वापस लेने का आह्वान किया है।

अमेरिकी कांग्रेस ने अपने बयान में कहा, “जैसा कि कांग्रेस के सदस्य अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और प्रेस की स्वतंत्रता के सिद्धांतों के प्रति गहराई से प्रतिबद्ध हैं, हमारा आपसे ऑस्ट्रेलियाई प्रकाशक जूलियन असांजे के खिलाफ वर्तमान में लंबित अमेरिकी प्रत्यर्पण अनुरोध को वापस लेने और उनके खिलाफ सभी अभियोजन कार्यवाही को जल्द से जल्द रोकने के लिए दृढ़ता से प्रोत्साहित करने का आग्रह है।”

बयान में कहा गया है कि इस मामले के बारे में अंतरराष्ट्रीय मीडिया आउटलेट्स, मानवाधिकार और प्रेस स्वतंत्रता अधिवक्ताओं और कांग्रेस के सदस्यों सहित अन्य लोगों द्वारा बार-बार गहरी चिंता व्यक्त की गयी है। सदस्यों ने कहा, “अमेरिका को अनावश्यक अभियोजन नहीं चलाना चाहिए जो सामान्य पत्रकारिता प्रथाओं को अपराधी बनाने और इस प्रकार प्रेस के काम को ठंडा करने का जोखिम उठाता है। हम आपसे यह सुनिश्चित करने का आग्रह करते हैं कि इस मामले को यथासंभव समय पर समाप्त किया जाये।”

गौरतलब है कि असांजे को अप्रैल-2019 से लंदन की उच्च सुरक्षा वाली बेलमार्श जेल में रखा गया है, जबकि उन पर जासूसी अधिनियम के तहत अमेरिका में मुकदमा चलाया जा रहा है। दोषी पाये जाने पर उन्हें 175 साल की जेल हो सकती है। असांजे ने 2006 में विकीलीक्स की स्थापना की थी, लेकिन 2010 में यह प्रमुखता से उभरी जब इसने अमेरिका सहित अन्य देशों के वर्गीकृत सरकारी सूचनाओं के बड़े पैमाने पर लीक को प्रकाशित करना शुरू किया।

'फ़िलिस्तीन गाजा युद्ध पर गुटेरेस के रुख की सराहना करता है'

संयुक्त राष्ट्र
 फिलिस्तीन गाजा संघर्ष पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस की स्थिति की सराहना करता है, हालांकि सहायता पर्याप्त नहीं है।
यह कहना है संयुक्त राष्ट्र में फिलिस्तीनी राजदूत रियाद मंसूर की। उन्होंने रूस की न्यूज एजेंसी स्पूतनिक से कहा, "हम महासचिव की ओर तुरंत मानवीय युद्धविराम का आह्वान किये जाने की सराहना करते हैं। गाजा पट्टी बच्चों का कब्रिस्तान बन रही है और अपराध को रोकना होगा। हम इन बयानों की सराहना करते हैं।" उन्होंने कहा, "जैसा कि महासचिव ने प्रति दिन न्यूनतम 100 ट्रक लोड किए जाने का सुझाव दिया है। हमें इससे अधिक की जरूरत है।"

उधर, अमेरिका के विदेश विभाग के वरिष्ठ अधिकारी डेविड सैटरफील्ड ने  कहा कि सहायता सामग्री लेकर प्रतिदिन 100 ट्रक गाजा पहुंच रहे हैं। उन्होंने हालाँकि कहा कि सहायता प्रवाह केवल जनसंख्या की "न्यूनतम आवश्यकताओं" को पूरा करता है।

उल्लेखनीय है कि सात अक्टूबर को फिलिस्तीनी समूह हमास ने इजरायल में घुसकर और रॉकेटों के जरिए हमला किया था, जिसमें 1,400 लोग मारे गए थे। इसके बाद इज़रायल ने हमास को ख़त्म करने के लक्ष्य के साथ जवाबी सैन्य अभियान शुरू किया और लगभग 20 लाख की आबादी वाले गाजा पर पूर्ण नाकाबंदी लगा दी।

व्हाइट हाउस के अनुसार नागरिक आंदोलन और सहायता वितरण को सुविधाजनक बनाने के लिए प्रतिदिन 4-5 घंटे का संघर्ष विराम लागू किया जा रहा है।

हूती विद्रोहियों के हालिया हमलों के बाद युद्धग्रस्त यमन में इंटरनेट सेवा ठप

दुबई
 युद्धग्रस्त राष्ट्र यमन में मध्यरात्रि को बिना किसी स्पष्टीकरण के इंटरनेट सेवा ठप हो गई। वेबसाइट पर निगरानी रखने वाली एक संस्था ने यह जानकारी दी।

इंटरनेट सेवा  मध्यरात्रि से बंद हुई और इसने यमननेट को प्रभावित किया, जिसपर अब यमन के ईरान समर्थित हूती विद्रोहियों का नियंत्रण है।

नेटब्लॉक (इंटरनेट ठप या बंद होने पर निगरानी रखने वाला समूह) और इंटरनेट सेवा कंपनी क्लाउडफ्लेयर दोनों ने ही इंटरनेट के बंद होने की जानकारी दी है। हालांकि दोनों ने ही इसके कारण की जानकारी नहीं दी।

हूती और यमन दूरसंचार पदाधिकारियों ने इंटरनेट सेवा को बंद किए जाने पर किसी प्रकार की कोई तत्कालिक प्रतिक्रिया नहीं दी है।

इंटरनेट सेवा बंद करने की पिछली घटना जनवरी 2022 में हुई थी। उस वक्त यमन में हूतियों से जूझ रहे सऊदी नेतृत्व वाले गठबंधन ने रेड सिटी बंदरगाह शहर होदेदा में एक दूरसंचार भवन पर बमबारी की थी। उस समय भी तत्काल कोई सूचना नहीं दी गई थी।

 

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!