होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

टीडी पावर का दूसरी तिमाही का शुद्ध लाभ 64.67 प्रतिशत बढ़कर 32.77 करोड़ रुपये पर

टीडी पावर का दूसरी तिमाही का शुद्ध लाभ 64.67 प्रतिशत बढ़कर 32.77 करोड़ रुपये पर

नई दिल्ली
 टीडी पावर एंड सिस्टम्स लिमिटेड (टीडीपीएस) का चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही का एकीकृत शुद्ध लाभ 64.67 प्रतिशत के उछाल के साथ 32.77 करोड़ रुपये रहा है। कंपनी ने यह जानकारी दी। कंपनी ने बीते वित्त वर्ष की समान तिमाही में 19.90 करोड़ रुपये का एकीकृत शुद्ध लाभ कमाया था।

टीडी पावर ने शेयर बाजार को दी सूचना में कहा, “तिमाही में उसकी कुल आमदनी बढ़कर 276.51 करोड़ रुपये रही, जो बीते वित्त वर्ष की समान तिमाही में 219.01 करोड़ रुपये थी।” कंपनी का खर्च समीक्षाधीन तिमाही में 231.89 करोड़ रुपये रहा जो बीते वित्त वर्ष की समान तिमाही में 192.28 करोड़ रुपये रहा था।

गुजरात पीपावाव पोर्ट का दूसरी तिमाही का शुद्ध लाभ 51 प्रतिशत बढ़कर 107.6 करोड़ रुपये पर

नई दिल्ली
गुजरात पीपावाव पोर्ट लिमिटेड का चालू वित्त वर्ष 2023-24 की दूसरी (जुलाई-सितंबर) तिमाही का एकीकृत शुद्ध लाभ 51 प्रतिशत बढ़कर 107.6 करोड़ रुपये रहा है।

कंपनी का पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में एकीकृत शुद्ध लाभ 70.8 करोड़ रुपये रहा था।

गुजरात पीपावाव पोर्ट लिमिटेड ने शेयर बाजार को दी जानकारी में बताया कि कंपनी की कुल आय तिमाही में बढ़कर 274.2 करोड़ रुपये हो गई, जो एक साल पहले समान तिमाही में 237.8 करोड़ रुपये थी।

समीक्षाधीन अवधि में कंपनी का खर्च 132.9 करोड़ रुपये रहा, जो पिछले वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में 137.2 करोड़ रुपये था।

कंपनी के निदेशक मंडल ने वित्त वर्ष 2023-24 के लिए 3.60 रुपये प्रति शेयर के अंतरिम लाभांश को भी मंजूरी दे दी है। इसके लिए रिकॉर्ड तिथि 21 नवंबर तय की गई है।

वारी एनर्जीज ने 135 मेगावाट से अधिक सौर पीवी मॉड्यूल की आपूर्ति के लिए एनटीपीसी से मिलाया हाथ

नई दिल्ली
वारी एनर्जीज लिमिटेड ने 135 मेगावाट से अधिक सौर पीवी मॉड्यूल की आपूर्ति के लिए एनटीपीसी के साथ साझेदारी की है।

फोटोवोल्टिक (पीवी) मॉड्यूल का इस्तेमाल एनटीपीसी द्वारा राजस्थान के बारां जिले में एक सौर ऊर्जा परियोजना के लिए किया जाएगा। इस ठेके के चार महीने की अवधि के भीतर पूरा होने की उम्मीद है।

वारी समूह के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक हितेश दोशी ने कहा कि ऐसी परियोजनाएं अत्याधुनिक सौर पीवी मॉड्यूल के जरिए आगे बढ़ने का शानदार अवसर प्रदान करती हैं।

वारी एनर्जीज 12 गीगावॉट की क्षमता के साथ भारत की सबसे बड़ी सौर मॉड्यूल निर्माता है। वहीं विद्युत मंत्रालय के अधीन एनटीपीसी भारत की सबसे बड़ी बिजली उत्पादक इकाई है।

 

 

 

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!