होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

आपका और मेरा रिश्ता तीन माह का नहीं है हमेशा का है : राहुल गांधी

१३

अंबिकापुर

कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष व सांसद राहुल गांधी ने ग्राम कतकालो के मिनी स्टेडियम में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि आपका और मेरा रिश्ता तीन माह का नहीं है हमेशा का है मैं जो कहता हूं वह करता हूं। वो जो कहते हैं नहीं करते। आपके खाते में 15 लाख आया क्या..! इस दौरान जनता ने कहा नहीं..! राहुल ने कहा कि सरकार मोदी जी नहीं अदाणी चला रहे हैं। हम यहां सरकार आते ही जाति जनगणना शुरू कर देंगे। हमने घोषणा की है धान 3200 रुपये में धान खरीदेंगे और इसकी शुरूआत भी हो गई और धान खरीदी की राशि और भी बढ़ाया जाएगा। ढाई हजार रुपये तेंदूपत्ता बोरी का मिलता था, अब चार हजार मिल रहा है। 23 हजार करोड़ रुपये न्याय योजना में हमने दिया और यदि हम सत्ता में आते है तो किसानों का कर्जा माफ होगा। 200 यूनिट तक बिजली मुफ्त दी जाएगी।

जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने एक व्यक्ति से पूछा कि नाम क्या है, उसने बताया गोवर्धन पाठक और उससे उन्होंने कहा कि आदमी पर कोई जानवर पेशाब नहीं करता पर भाजपा के नेता पेशाब करते हैं..मतलब आप समझ सकते हैं। जल, जंगल व जमीन के मालिक आदिवासी थे, उनका हक है। भाजपा आपका शोषण करती है और आप पर पेशाब करती है। जंगल कम हो रहा है और भाजपा वनवासी कहते हैं। जंगल कम हो रहा है तो वनवासी कहाँ जाएगा। इस पर एक नागरिक बोला मोदी के घर..इस पर जमकर ठहाके लगे।

राहुल गांधी ने कहा कि हर आदिवासी का बच्चा अंग्रेजी बोलेगा। छत्तीसगढ़ में रहना है तो छत्तीसगढ़ी बोलिए यूपी, दिल्ली जाना है तो अंग्रेजी बोलिए वो चाहते हैं आप अंग्रेजी न बोलें। हर भाषण में (मोदी) ओबीसी की बातें करते हैं। मोदी जी जब हिंदुस्तान में एक जात है गरीब तो आप अपने आप को ओबीसी क्यों कहते हैं। मोदी जी को आपने देखा है एक कपड़ा दो दिन पहना हो। दिन भर में पांच पहनते हो। आप जीत गए ओबीसी तो ओबीसी बन गए। आप कहते हो एक जात है गरीबी..! अपने भाषण के दौरान राहुल गांधी ने कहा कि हिंदुस्तान को 90 अफसर चलाते हैं और ये लोग तय करते हैं। ये अफसर बजट का हर पैसा बांटते हैं,इनमे तीन ओबीसी हैं। क्या हिंदुस्तान में ओबीसी की आबादी 5 परसेंट हैं। पूरा देश जानता है आदिवासी की आबादी कितनी होती है। 90 अफसरों में कितने आदिवासी हैं।

उन्होंने कहा कि आप सभी जाति जनगणना की आवाज उठाइए, एक बार सबके सामने आकंड़े आ जाएंगे। तीन अफसरों को बदलना पड़ेगा।मोदी जी के पास पूरे आकंड़े हैं।हम रिलीज करने कहते हैं।अब कह रहे कोई ओबीसी नहीं,सिर्फ एक जात है गरीब। आप जाति जनगणना करा दो,सच्चाई बता दो। लंबे लंबे भाषण देंगे पर नहीं बताएंगें। सरकार मोदी जी नहीं अदाणी चला रहे हैं। यहां सरकार आते ही जाति जनगणना शुरू कर देंगे। मोदी जी करे न करें ,दिल्ली में इंडिया एलाइंस की सरकार आएगी हम करेंगे। मोदी की पालिसी नोटबन्दी, जीएसटी ने रोजगार की नीव तोड़ दी है। हर सवाल का जवाब हम दिलवा देंगे। आपका पैसा अदाणी के पास चला जाता है।

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!