होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

केजरीवाल पत्नी सुनीता को बनाना चाह रहे CM, विधायकों ने नहीं दी मंजूरी – सूत्र

नई दिल्ली

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को शराब घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की ओर से तलब किए जाने के बाद से आम आदमी पार्टी (आप) उन्हें गिरफ्तार कर लिए जाने की आशंका जाहिर कर रही है। पार्टी इस मंथन में जुटी है कि यदि केजरीवाल को गिरफ्तार किया जाता है तो उन्हें इस्तीफा देना चाहिए या फिर जेल में रहकर ही सरकार चलाएं। इस बीच भारतीय जनता पार्टी के एक बड़े नेता ने सनसनीखेज दावा किया है। मनजिंदर सिंह सिरसा ने आरोप लगाया है कि केजरीवाल अपनी पत्नी सुनीता केजरीवाल को को मुख्यमंत्री बनाना चाहते थे। शराब नीति के शुरुआती शिकायतकर्ताओं में शामिल सिरसा ने कहा कि आम आदमी पार्टी के ही एक नेता ने उन्हें यह बताया है।  

सिरसा ने  बातचीत में यह भी दावा किया विधायकों की ओर से मना किए जाने के बाद केजरीवाल अब जनमत संग्रह कराने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जनमत संग्रह के बाद केजरीवाल अपनी पत्नी को मुख्यमंत्री बनाएंगे। सिरसा ने कहा, 'अरविंद केजरीवाल जी ने कल अपने विधायकों के साथ बैठक की और कहा कि मैं गिरफ्तार होने पर तिहाड़ जेल से सरकार चलाऊंगा। चोर की दाढ़ी में तिनका। केजरीवाल को पहले दिन से पता है कि जो सबूत आए हैं, 350 करोड़ से ज्यादा का मनी ट्रेल है। सुप्रीम कोर्ट ने भी उसका जिक्र किया और सिसोदिया को जमानत नहीं दी। जो पैसों का लेनदेन केजरीवाल ने किया है, खासतौर पर जो अपना शीशमहल बनाने का काम किया, उन्हें पता है जेल जाएंगे।' 

विधायकों ने कहा बर्बाद हो जाएंगे: सिरसा
सिरसा ने आगे कहा, 'मैंने पहले ही कहा था कि केजरीवाल पेश नहीं होंगे, क्योंकि वह विधायकों को मनाना चाहते हैं कि उनकी धर्मपत्नी सुनीता केजरीवाल को मुख्यमंत्री बनाया जाए। यह कल स्पष्ट हो गया। अरविंद केजरीवाल जी ने बैठक की। आम आदमी पार्टी के एक सीनियर नेता ने मुझे बताया कि सारे विधायकों ने मना कर दिया, उन्होंने कहा कि आपकी पत्नी को यदि बनाएंगे, पहले करप्शन का दाग लगा, फिर आपके शीशमहल का, अब परिवारवाद का बचा है, यह भी करेंगे तो बर्बाद हो जाएंगे। रास्ता यह निकाला गया है कि जनमत कराएंगे। लोग कहेंगे कि हमने केजरीवाल जी को वोट दिया है तो फिर सुनीता केजरीवाल जी को बना दिया जाएगा।'

केजरीवाल पर रायशुमारी
गौरतलब है कि आम आदमी पार्टी ने अरविंद केजरीवाल को लेकर जनता के बीच रायशुमारी करने का फैसला किया है। आम आदमी पार्टी का कहना है कि दिल्ली के विधायकों और पार्षदों ने केजरीवाल से गुजारिश की है कि यदि उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाता है तो वह इस्तीफा ना दें और जेल से ही कामकाज संभालें। अब पार्टी ने दूसरे राज्यों के कार्यकर्ताओं और नेताओं के अलावा दिल्ली की जनता से भी यह पूछने का फैसला किया है कि अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी पर क्या किया जाए।

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!