होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

इस दिवाली दुआ करें; गाजा में हमास से चल रही जंग के बीच इजरायली राजदूत की भारतीयों से अपील

नई दिल्ली
इजरायल और हमास में चल रही जंग के बीच इजरायली राजदूत ने भारतीयों से अपील की है। इस कत्लेआम में अभी तक कम से कम 12 हजार लोगों की मौत हो चुकी है। अकेले गाजा पट्टी में 10 हजार से अधिक फिलिस्तीनी नागरिक मारे जा चुके हैं, इसमें 4000 से अधिक मौतें बच्चों की हुई हैं। वहीं, इजरायल खेमे में मरने वालों की संख्या 1400 से ज्यादा है। इजरायली राजदूत ने भारतीयों को संदेश में कहा है कि हर दिवाली हम दीये जलाकर भगवान राम की वापसी की जश्न मनाते हैं। आप इस दीपावली दुआ करें कि बंधक जल्द से जल्द घर लौट सकें।

इजरायली सेना आईडीएफ गाजा पट्टी में हमास के ठिकानों को चुन-चुनकर नष्ट कर रही है। बुधवार को युद्ध का अपडेट यह है कि आईडीएफ ने हमास की सुरंगों को निशाना बनाना शुरू कर दिया है। इस कत्लेआम में हजारों लोगों की जान चुकी है। गाजा पट्टी में हर ओर तबाही और लाशों के ढेर देखने को मिल रहे हैं। हालत यह है कि अस्पतालों और श्मशान घाटों पर मुर्दे रखने की जगह नहीं है। आईसक्रीम ट्रकों को अस्थायी मुर्दाघर बनाया जा रहा है। एंबुलेंस की कमी के चलते लोग अपने प्रियजनों की लाशों को खुद के वाहनों में ढोकर अस्पताल पहुंच रहे हैं।

इस महायुद्ध के बीच इजरायली राजदूत नाओर गिलॉन ने भारतीयों को खास संदेश दिया है। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर इजरायली राजदूत ने एक वीडियो संदेश में कहा, हमारे 240 प्रियजनों को हमास के आतंकियों ने एक महीने से बंधक बना रखा है। हर दिवाली हम दीये जलाकर भगवान राम की वापसी का जश्न मनाते हैं। इस दिवाली में हम आपको उन लोगों के वापस आने की आशा में एक दीया जलाने के लिए आमंत्रित करते हैं। हमें टैग करें और #DiyaOfHope हैशटैग के साथ अपनी तस्वीरें शेयर करें।

240 बंधकों की रिहाई चाहता है इजरायल
बता दें कि 7 अक्टूबर को हमास आतंकियों ने इजरायल पर सबसे बड़ा अटैक किया था। इस दिन हमास ने गाजा पट्टी से 20 मिनट में इजरायल पर 6000 रॉकेट छोड़े। इससे पहले कि इजरायल कुछ समझ पाता, हमास के आतंकी हजारों की संख्या में इजरायली गांवों में घुस गए और जमकर कत्लेआम किया। जो दिखा उसे मौत के घाट उतार दिया गया। इस हमले में 1400 लोगों की मौत हो गई। इसके साथ ही हमास आतंकी 240 इजरायली लोगों को बंधक बनाकर अपने साथ ले गए। अभी तक के नेगोशिएशन में हमास मानवीय सहायता के रूप में 4 बंधकों को रिहा चुका है।

 

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!