होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

टाटा ग्रुप वोल्टास को बेचने की कोशिश में, जाने क्यों करना पड़ रहा है ऐसा फैसला

मुंबई

 देश का सबसे बड़ा औद्योगिक घराना टाटा ग्रुप (Tata Group) वोल्टास लिमिटेड के होम अप्लायंसेज बिजनस को बेचने की तैयारी में है। ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से यह दावा किया गया है। यह बहुत कंप्टीटिव मार्केट है और टाटा ग्रुप के मैनेजमेंट को लगता है कि आने वाले दिनों में उसे अपना बिजनस बढ़ाने में दिक्कतों को सामना करना पड़ सकता है। टाटा ग्रुप के मैनेजमेंट ने इस बिजनस को बेचने की संभावनाओं पर चर्चा की है लेकिन अब तक यह फैसला नहीं किया गया है कि इस डील में जॉइंट वेंचर पार्टनर Arcelik AS को शामिल किया जाए या नहीं।

सूत्रों का कहना है इस बारे में चर्चा अभी शुरुआती स्तर पर है और टाटा ग्रुप इस एसेट को लंबे समय तक अपने पास रखने पर विचार कर सकता है। इस बारे में टाटा ग्रुप के एक प्रतिनिधि ने कमेंट करने से इन्कार कर दिया। इस साल वोल्टास के शेयरों में तीन फीसदी तेजी आई है और इसकी मार्केट वैल्यू करीब 3.3 अरब डॉलर पहुंच गया है। इस कंपनी की स्थापना 1954 में की गई थी।

क्या करती है कंपनी
यह एयर कंडीशनर और वॉटर कूलर के साथ-साथ कमर्शियल रेफ्रिजरेशन यूनिट्स बनाती है। भारत के अलावा मिडिल ईस्ट, साउथईस्ट एशिया और अफ्रीका में इसकी मौजूदगी है। कंपनी का भारत में Arcelik के साथ जॉइंट वेंचर है और उसने Voltas Beko ब्रांड नाम से देश में कई होम अप्लांसेज उतारे हैं। Voltas Beko का पिछले फाइनेंशियल ईयर में रेवेन्यू करीब 96.7 अरब रुपये रहा। 30 सितंबर तक इसकी रेफ्रिजरेटर मार्केट में हिस्सेदारी 3.3 परसेंट और वॉशिंग मशीन मार्केट में 5.4 परसेंट थी।  

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!