होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

महादेव ऐप्प केस में चुनाव आयोग से कांग्रेस करेगी मुलाकात

रायपुर.

महादेव बेटिंग ऐप की वजह से छत्तीसगढ़ की सियासत गरमाई हुई है। मनी लॉन्ड्रिंग के इस मामले में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का नाम सामने आया है। इस मामले में अब तक कई गिरफ्तारियां भी हुई हैं। वहीं कांग्रेस का कहना है कि बीजेपी जानबूझकर उनके नेता को फंसा रही है। इस बीच केंद्र सरकार ने रविवार को महादेव बेटिंप ऐप समेत 22 अवैध सट्टेबाजी वाले ऐप्स और वेबसाइट को ब्लॉक कर दिया है।

महादेव ऐप मुद्दे पर कांग्रेस पार्टी आज भारत चुनाव आयोग से संपर्क करेगी। वहीं मामले को लेकर सीएम बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ पुलिस ने अब तक 450 लोगों को गिरफ्तार किया है और 72 एफआईआर दर्ज की हैं, साथ ही लैपटॉप और पैसे भी जब्त किए हैं। सीएम बघेल ने आगे कहा कि केंद्र सरकार क्या कर रही है? ऐप पर प्रतिबंध लगाना और आरोपियों को गिरफ्तार करना उनका काम है। हमने पहले ही एक लुकआउट सर्कुलर जारी कर दिया है। सीएम ने कहा कि महादेव सट्टेबाजी ऐप मामले पर दो साल से इसकी जांच चल रही है। जब तक ऑनलाइन सट्टेबाजी पर रोक नहीं लगेगी, कुछ नहीं रुकेगा, लाखों फर्जी अकाउंट हैं जो लोग ऑनलाइन सट्टेबाजी करते हैं। केंद्र सरकार को उनकी पहचान कर उन्हें बंद करना चाहिए।

बघेल सरकार पर केंद्रीय मंत्री का आरोप
केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इंफोर्मेशन टेक्नोलॉजी राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने सट्टेबाजी वाले ऐप्स को बैन किए जाने को लेकर बात की। उन्होंने छत्तीसगढ़ सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि राज्य सरकार के पास इन ऐप्स पर बैन लगाने की शक्ति थी, लेकिन उसने ऐसा नहीं किया। उन्होंने कहा कि अब इस तरह के ऐप्स को ब्लॉक कर दिया गया है।

सट्टेबाजी वाले 22 ऐप्स और वेबसाइट पर रोक लगाने का आदेश
केंद्र सरकार ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अनुरोध पर महादेव ऐप समेत 22 सट्टेबाजी वाले ऐप्स और वेबसाइट पर रोक लगाने का आदेश जारी किया है। ईडी ने अवैध सट्टेबाजी करवाने वाले इस ऐप के सिंडिकेट के खिलाफ जांच की है। इस मामले में जबरदस्त तरीके से छत्तीसगढ़ समेत कई जगहों पर छापेमारी भी की गई है और कई लोगों को दबोचा गया।

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!