होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

अमावस्या तिथि दो दिन, पिछले साल की तरह इस बार भी गोवर्धन पूजा दीपावली के दूसरे दिन

रायपुर

आमतौर पर दीपावली का त्यौहार पांच दिनों तक मनाया जाता है लेकिन पिछले साल की तरह इस बार भी छह दिन तक दीपावली का त्या्ैहार मनाया जाएगा। सुख समृद्धि, वैभव का पर्व दीपावली यानी लक्ष्मी पूजा 12 नवम्बर को मनाया जाएगा, लेकिन दूसरे दिन गोवर्धन पूजा नहीं मनाया जाएगा क्योंकि इस बार अमावस्या तिथि दो दिन पड़ रही है। ऐसे में दिवाली के अगले दिन स्नानदान अमावस्या होगी और 14 नवंबर को गोवर्धन पूजा का पर्व मनाया जाएगा। 13 नवंबर को सोमवती अमावस्या का संयोग रहेगा, जो तीर्थ स्थलों पर स्नान, पूजा पाठ के लिए विशेष शुभ रहेगा।

पंडितों के अनुसार दीपावली पर्व की रात्रि व्यापिनी अमावस्या तिथि पर मनाया जाता है, जिस दिन रात्रि में अमावस्या रहती है, उस दिन दीपावली पर्व होता है। इस बार अमावस्या तिथि दो दिन रहेगी। अमावस्या 12 नवंबर को दोपहर 2 बजकर 46 मिनट पर आएगी और अगले दिन 2 बजकर 58 मिनट तक रहेगी। ऐसे में 12 नवंबर को दीपावली पर्व मनाया जाएगा, वहीं 13 नवम्बर को स्नानदान की अमावस्या रहेगी। इस दिन सोमवार होने से सोमवती अमावस्या भी रहेगी। दीपावली उत्सव पिछले साल भी छह दिन का था। पिछले साल दिवाली के अगले दिन सूर्यग्रहण था, इसके चलते एक दिन बाद गोवर्धन पूजा का पर्व मनाया गया था। इस बार भी 12 को दीपवली और 14 नवम्बर को गोवर्धन पूजा का पर्व मनाया जाएगा।

6 दिवसीय दीपोत्सव में कब क्या…
10 नवंबर धन तेरस
11 नवंबर नरक चतुर्दर्शी
12 नवंबर दिवाली, लक्ष्मीपूजा
13 नवंबर सोमवती अमावस्या
14 नवंबर गोवर्धन पूजा
15 नवंबर भाईदूज

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!