होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

गाजा में 48 घंटे अहम, कभी भी घुस सकती है इजरायली सेना; 4200 बच्चे मरे

तेल अवीव

अमेरिका और अरब देशों समेत दुनिया की बड़ी ताकतों ने इजरायल से अपील की है कि वह युद्धविराम कर दे और गाजा पर हमले रोक दिए जाएं। इसके बाद भी युद्ध जारी है। इजरायल एक साथ ही गाजा में हमास और लेबनान में हिजबुल्लाह पर वार कर रहा है। इस बीच गाजा प्रशासन का कहना है कि इजरायल के हमलों में अब तक 9700 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं, इनमें 4200 तो मासूम बच्चे ही हैं। वहीं इजरायल इतने पर भी थमने वाला नहीं है। इजरायली सेना का कहना है कि उसने गाजा पट्टी को पूरी तरह से घेर लिया है।

गाजा को दो टुकड़ों में बांटने का दावा इजरायल ने किया है। उसका कहना है कि उत्तरी और दक्षिणी गाजा के बीच आपसी संपर्क हमने खत्म कर दिया है। गाजा पट्टी के लिए अगले 48 घंटे बेहद अहम हैं। इस दौरान कभी भी इजरायल की सेना जमीनी हमले के लिए गाजा पट्टी में एंट्री कर सकती है। इजरायली सेना के अधिकारी डेनियल हगारी ने कहा कि आज हमने गाजा को दो टुकड़ों में बांट दिया है। अब यह उत्तर और दक्षिण गाजा हो गया है। इजरायल के हमलों में गाजा पट्टी के अलावा वेस्ट बैंक में भी 140 फिलिस्तीनी मारे गए हैं।

बता दें कि अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन एक बार फिर से मध्य पूर्व के दौरे पर निकले हैं। वह अब तक 6 अरब देशों की यात्रा कर चुके हैं, लेकिन कोई फैसला नहीं हो सका है। अरब देश अमेरिका पर भड़के हुए हैं तो वहीं इजरायली पीएम बेंजामिन नेतन्याहू ने साफ कहा कि हम युद्ध विराम नहीं करेंगे। उनका कहना है कि यदि युद्ध विराम किया तो वह हमास के आगे सरेंडर करने जैसा ही होगा। इस बीच अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए के डायरेक्टर विलियम बर्न्स भी आज इजरायल पहुंच रहे हैं।

न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक सीआईए के डायरेक्टर इजरायल में युद्ध और खुफिया मसलों पर बात करेंगे। वह भी गाजा की स्थिति पर चर्चा के लिए मध्य पूर्व के अन्य देशों का दौरा कर सकते हैं। अमेरिका में इजरायल के राजदूत मिखाइल हेर्तजोग ने कहा कि गाजा दुनिया में आतंकवाद का सबसे बड़ा कॉम्प्लेक्स है। यहां हजारों की संख्या में लड़ाके मौजूद हैं। रॉकेट भी रखे हुए हैं। यही नहीं हमास ने गाजा में 500 किलोमीटर के दायरे में सुरंगें बना रखी हैं। उन्होंने कहा कि हम इसी हमास के खिलाफ हैं और उसे जड़ से उखाड़ना ही हमारा लक्ष्य है

 

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!