होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

कांगेस ने 50 साल तक आदिवासियों को सिर्फ वोट बैंक समझा – अर्जुन मुडा

रायसेन.
आजादी के बाद देश में 50 सालों से अधिक समय तक शासन करने वाली कांग्रेस पार्टी ने हमारे आदिवासी भाई-बहनों को सिर्फ वोट बैंक ही समझा है। 1857 के स्वतंत्रता आंदोलन से लेकर देश के आजाद होने तक हजारों की संख्या में आदिवासी जननायकों ने बलिदान दियां लेकिन आजादी के बाद कांग्रेस सरकार ने उनका कोई उल्लेख नहीं किया। केवल चंद परिवारों का ही महिमा मंडन किया गया। नरेंद्र मोदी जी के प्रधानमंत्री बनने के बाद जनजातीय महापुरूषों को सम्मान मिला और रानी कमलापति के नाम पर देश के सबसे बड़े रेलवे स्टेशन का नामकरण किया गया। जबलपुर में रानी दुर्गावती का स्मारक बनाया जा रहा है। भगवान बिरसा मुंडा की जयंती 15 नवंबर को जनजातीय गौरव दिवस के रूप में मनायी जा रही है। मध्यप्रदेश में पेसा एक्ट लागू करके भाजपा सरकार ने आदिवासियों को उनका अधिकार सौंपा है। यह बात केंद्रीय मंत्री अजुन मुंडा ने रायसेन जिले के सांची विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी डॉ. प्रभुराम चौधरी के समर्थन में गैरतगंज तहसील क्षेत्र के तहत आने वाले ग्राम गढ़ी कस्बा, ग्राम वसादेही सूर्यवरू देहरी में जनसभा को संबोधित करते हुए कही।

केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा की डबल इंजन की सरकार आदिवासी विकास के लिए प्रतिबद्ध है। कांग्रेस ने आजादी के 60 साल बाद तक जनजातियों के विकास के लिए अलग मंत्रालय तक नहीं बनाया था। पंडित अटल बिहारी वाजपेयी जी जब प्रधानमंत्री बने तब उन्होंने अलग से जनजातीय मंत्रालय का गठन किया। कांग्रेस के समय आदिवासियों के विकास के लिए जितना बजट दिया जा रहा था, उसका चार गुना बजट भाजपा की सरकार खर्च कर रही है। आदिवासी समाज के लोगों के लिए व्यापक कार्य योजना बनाकर उनकी भलाई के लिए निरंतर कार्य किया जा रहा है,  जिसका लाभ ग्रामीण क्षेत्र में निवास करने वाले आदिवासियों को मिल रहा है। मुंडा ने कहा कि भाजपा के शासन में केंद्र और राज्य सरकार की तरफ से आदिवासियों को जितना सम्मान मिल रहा उतना किसी दल ने नहीं दिया।

आदिवासियों का जीवन स्तर सुधर रहा
मुंडा ने कहा कि आज के दौर में हमारे देश की राष्ट्रपति भी आदिवासी वर्ग से आती हैं। कांग्रेस पार्टी ने आदिवासी नेतृत्व को कभी आगे नहीं बढ़ने दिया। इतना ही नहीं भाजपा जब श्रीमती द्रौपदी मुर्मु को राष्ट्रपति बनाने की घोषणा की तो कांग्रेस नेताओं ने उनका भी विरोध किया। यह है कांग्रेस पार्टी और उनके नेताओं का आदिवासी समाज के प्रति नजरिया। भारतीय जनता पार्टी आदिवासी वर्ग विशेष के लिए अनेक प्रकार की कार्य योजना बनाकर उनके जीवन स्तर को आगे बढ़ाने के लिए निरंतर काम कर रही है। आदिवासियों के लिए केंद्र और राज्य सरकार की कई योजनाएं समाज के लिए मील का पत्थर साबित हो रही हैं। 17 नवंबर को मतदान के दिन बड़ी संख्या में मतदान करके भाजपा को प्रचंड बहुमत से विजय बनाएं, ताकि हमारे समाज के कल्याण का क्रम कभी न रुके। इस मौके पर, जिला भाजपा अध्यक्ष राकेश शर्मा, देव नगर मंडल अध्यक्ष अमन सक्सेना, रौनक चौधरी, गोविंद महाराज, जीतू ठाकुर, चौरसिया,सहित भाजपा नेता और कार्यकर्ता मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!