होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

एल्विश यादव की तरह रैपर जी-ड्रैगन भी ड्रग्स केस में फासे

साउथ कोरिया

देशभर में एल्विश यादव की खूब चर्चा हो रही है, जिन पर रेव पार्टी, विदेशी लड़कियां और सांपों के जहर की तस्करी जैसे गंभीर आरोप लगे हैं। ये मामला अभी शांत भी नहीं हुआ है कि म्यूजिक की दुनिया से नशीली दवाओं को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है। साउथ कोरिया के फेमस रैपर और सिंगर जी-ड्रैगन का नाम ड्रग्स केस में आया है, जिसके बाद सिनेमा जगत में हलचल मच गई है। हालांकि, सिंगर ने सारे आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है, वैसे ही, जैसे एल्विश ने अपने ऊपर लगे सभी इल्जामों का खंडन किया है। आइये जानते हैं, क्या है पूरा मामला।

K-Pop सेंसेशन G-Dragon ने ड्रग्स केस में पुलिस से पूछताछ होने से पहले 6 नवंबर को मीडिया के सामने बयान दिया है। वो कथित ड्रग केस में नाम आने के बाद पहली बार पब्लिकली सामने आए। उन्होंने नशीली दवाओं से जुड़ी एक्टिविटी में किसी भी तरह से शामिल होने से इनकार किया है। साथ ही जांच में सहयोग का आश्वासन दिया है।

जानकारी के मुताबिक, 25 अक्टूबर को जी-ड्रैगन पर नशीली दवाओं के इस्तेमाल का आरोप लगा था। जी-ड्रैगन से पहले एक्टर ली सन क्यून पर नशीली दवाओं के इस्तेमाल का आरोप लगा था। इसके बाद ये मामला आगे बढ़ा और इसकी आग जी-ड्रैगन तक भी पहुंची।

एल्विश के खिलाफ FIR
'बिग बॉस ओटीटी सीजन 2' के विनर एल्विश यादव की बात करें तो वो उनके खिलाफ नोएडा में FIR दर्ज हुई। पांच लोगों की गिरफ्तारी हुई। बीजेपी सांसद मेनका गांधी की संस्था 'पीपल फॉर एनिमल्स' के लोगों ने एल्विश को पकड़ने के लिए एक जाल बुना था। उन्होंने एल्विश से एक रेव पार्टी में स्नेक वेनम लाने की डिमांड की, जिसे फेमस यूट्यूबर ने देने की बात कही। इसके बाद फॉरेस्ट टीम और पुलिस के हत्थे राहुल यादव सहित कई सपेरे पड़े।

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!