होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

केवल कांग्रेस किसानों की हितैषी, एक क्विंटल धान 3200 में खरीदने की घोषणा : जैन

कर्जमाफी और धान का समर्थन मूल्य साबित होंगे मास्टर स्ट्रोक
गांव, गरीब, महिलाओं, युवाओं, व्यापारियों आदि की सुध घोषणा पत्र में ली गई
जगदलपुर

छत्तीसगढ में कांग्रेस ही किसानों की सच्ची हितैषी है। कर्जमाफी और 3200 रुपये में एक क्विंटल धान की खरीदी समेत घोषणा पत्र में शामिल सभी बिन्दु चुनाव में मास्टर स्ट्रोक साबित होंगे। यह कहना है जगदलपुर के निवर्तमान विधायक व वरिष्ठ कांग्रेस नेता रेखचंद जैन का। रविवार दोपहर यहां संभाग मुख्यालय में आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर जारी कांग्रेस के घोषणापत्र के पश्चात मीडिया से चर्चा करते श्री जैन ने कहा कि कांग्रेस ने गांव- गरीब से लेकर मजदूरों, महिलाओं, युवाओं, व्यापारियों समेत समाज के सभी वर्गों की चिंता की है, जो घोषणा पत्र में परिलक्षित होता है।

घोषणा पत्र को भरोसे का घोषणा पत्र नाम दिया गया है जो इस बात का द्योतक है कि पिछले पांच साल में कांग्रेस सरकार ने जनता के साथ अटूट व विश्वसनीय संबंध बनाया है और जनता भी कांग्रेस पर अत्यधिक भरोसा करती है। लोगों के आर्थिक तंत्र की मजबूती के साथ शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, व्यापार, खेती- किसानी आदि पर ध्यान दिया गया है।

मोदी ने नहीं दी नगरनार की गारंटी
श्री जैन ने कहा है कि एक ओर जहां कांग्रेस के घोषणापत्र में कर्ज माफी, 3200 रुपये में एक क्विंटल धान की खरीदी, गैस सिलेंडर पर 500 रुपये की सब्सिडी, केजी से पीजी तक मुफ्त शिक्षा जैसी अनेक मंहगाई से राहत देने वाली घोषणाएं की गई है वहीं भाजपा के संकल्प पत्र में महज कांग्रेस की नकल की गई है। कांग्रेस के राष्ट्रीय नेताओं ने पिछले दिनों जनता को जो गारंटी दी थी, उसे ही भाजपा ने मोदी की गारंटी के रूप में प्रस्तुत किया है। प्रधानमंत्री मोदी बस्तर की जनता को इस बात की गारंटी देने में नाकाम रहे हैं कि यहां के जल, जंगल और जमीन सुरक्षित रहेंगे। इन पर स्थानीय रहवासियों का ही मालिकाना हक होगा। मोदी ने नगरनार स्टील प्लांट को लेकर भी कोई गारंटी नहीं दी है। इससे लोगों में यह दुविधा बनी हुई है कि अगर भाजपा जीतती है तो नगरनार स्टील प्लांट मोदी के उद्योगपति मित्र अदाणी के हाथ चला जाएगा।

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!